क्या सच में इंदिरा गांधी का अंतिम संस्कार मुस्लिम रिवाज से किया गया था?

Total Views : 379

क्या सच में इंदिरा गांधी का अंतिम संस्कार मुस्लिम रिवाज से किया गया था?

सोशल मीडिया पर इन दिनों सोनिया गांधी और राहुल गांधी सहित कांग्रेस पार्टी के कई नेताओं की तस्वीर वायरल हो रही है जिसमे दावा किया जा रहा है कि इंदिरा गांधी का अंतिम संस्कार मुस्लिम रिवाज के अनुसार किया गया था।

इस तस्वीर को जिन लोगों ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है, उन्होंने लिखा है कि ''इंदिरा गांधी की अंतिम क्रिया के दौरान गांधी परिवार जिस तरह हाथ जोड़कर प्रार्थना कर रहा है, उससे ये साफ़ हो जाता है कि उनका असली धर्म क्या है''।

रिवर्स इमेज सर्च से पता चलता है कि गांधी परिवार की इस तस्वीर को पहले भी इसी दावे के साथ सोशल मीडिया पर शेयर किया जाता रहा है। हज़ारों लोग इसे फ़ेसबुक पर पोस्ट कर चुके हैं। लेकिन तस्वीर के साथ जो दावा किया जा रहा है वो ग़लत है।

रिवर्स इमेज सर्च के नतीजे बताते हैं कि इस तस्वीर को सबसे पहले पाकिस्तान के पेशावर में रहने वाले लेखक व राजनेता मोहसिन दावर ने ट्वीट किया था।

मोहसिन का ट्वीट इस तस्वीर से जुड़ा सबसे पुराना सोशल मीडिया पोस्ट कहा जा सकता है। अपने इस ट्वीट में मोहसिन ने लिखा था कि राजीव गांधी की ये तस्वीर 'फ़्रंटियर गांधी' के नाम से मशहूर स्वतंत्रता सेनानी ख़ान अब्दुल गफ़्फ़ार ख़ान का जनाज़ा उठने से पहले खींची गई थी। अब्दुल गफ़्फ़ार ख़ान को 21 जनवरी 1988 को पाकिस्तान के पेशावर शहर में दफ़न किया गया था।

चांद पर उतरने से पहले इज़राइल का अंतरिक्ष यान दुर्घटनाग्रस्त

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच नहीं होगा गठबंधन, केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में फैसला

सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, सभी दल EC को देंगे चंदे का ब्योरा

150 से अधिक पूर्व सैन्य अधिकारियों ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र, मोदी सरकार पर राजनीतिकरण का आरोप

राहुल की सुरक्षा में चूक? चेहरे पर दिखी लेजर लाइट

Stay Updated

Subscribe

I agree to the terms of the privacy policy